शहद खाने के फायदे, Honey ke fayde

प्राचीन काल से ही शहद का प्रयोग औषधि के रूप में और शरबत बनाने में मिठास, natural sweetner के रूप में किया जाता रहा है। यह एक गढ़ा, चिपचिपा और वजनी तरल पदार्थ है। इसके गुणों के आधार पर यदि इसकी तुलना अमृत से की जाए तो गलत नही होगा।

प्राकृतिक रूप से शहद का निर्माण मधुमक्खियां फूलों के रस से करती हैं। मधुमक्खियां विभिन्न प्रकार के फूलों के रस को इकट्ठा करके अपने छत्ते में धीरे धीरे शहद का निर्माण करती हैं।

पिछले कुछ वर्षों में शहद पर अत्यधिक शोध किए गए है, जिनके आधार पर शहद के औषधीय गुण की पुष्टि होती है। आयुर्वेद के अनुसार शहद का प्रयोग सभी उम्र के स्त्री, पुरुष और बच्चे कर सकते हैं।

शहद का प्रयोग करने से पहले हमें इसकी गुणवत्ता की जांच अवश्य कर लेनी चाहिए। क्योंकि बाजार में आजकल मिलावटी शहद भी धड़ल्ले से बिक रहे हैं। शहर की गुणवत्ता की जांच करने के लिए शहद को पानी में खोला जाता है। मिलावटी शहद पानी में जल्दी भूल जाता है किंतु असली शहद पानी में बड़ी मुश्किल से घुल पाता है।

शहद के पोषक तत्व health nutrients of honey

दोस्तों में तो वैसे तो शहद में बहुत से पोषक तत्व पाए जाते हैं, किंतु यह फ्रक्टोज नामक शर्करा का प्रमुख स्रोत है। इसके अतिरिक्त इसमें कार्बोहाइड्रेट, विटामिन, राइबोफ्लेविन, नाइसिन और अमीनो अम्ल भी प्रचुर मात्रा में पाए जाते हैं। एक चम्मच शहद से लगभग 60 कैलोरी ऊर्जा प्राप्त होती है। शहद में किसी भी प्रकार का प्रोटीन या फाइबर नहीं पाया जाता है।

शहद खाने के फायदे benefits of consuming honey

दोस्तों उपर्युक्त शहद के पोषक तत्वों के बारे में दी गई जानकारी को पढ़कर आपने अंदाजा तो लगा ही लिया होगा कि शहद के हमारे शरीर के लिए क्या-क्या फायदे हो सकते हैं।

लेकिन हम आपको बता देते हैं कि शहद का प्रयोग करके हम अपने शरीर को ऊर्जावान बना सकते हैं। यदि हम दिन भर बहुत ही मेहनत और परिश्रम भरा कार्य करते तो हमें एक गिलास ताजे जल में एक चम्मच शहद घोलकर अर्थात शरबत बनाकर अवश्य पीना चाहिए। शहद का शरबत पीने से शरीर दिनभर तरोताजा बना रहता है।

इसे भी पढ़ें : धतूरे के अनसुने व हैरतअंगेज फायदे

इसके अलावा शहद का प्रयोग चेहरे की सुंदरता को बढ़ाने के लिए, पाचन शक्ति में सुधार लाने के लिए तथा रोग प्रतिरोधक क्षमता को विकसित करने के लिए भी किया जाता है।

नवजात शिशु के दांत आसानी से नहीं निकलते हैं, उन्हें भी शहद चटाया जाता है, जिससे उनके दांत आसानी से निकल सकें।

दोस्तों शहद की तासीर गर्म होती है इसलिए इसका प्रयोग इसका औषधियों के साथ मिलाकर किया जाता है। सर्दी जुकाम या नजला हो गया हो तो, शहद में दालचीनी पाउडर मिलाकर चाटने से सर्दी जुखाम और नजला की समस्या जल्द दूर हो जाती है।

शहद का विभिन्न रोगों में प्रयोग use of honey in different diseases

Honey अर्थात शहद में बहुत से औषधीय गुण पाए जाते हैं, इसलिए इसका प्रयोग बहुत सी बीमारियों को दूर करने में किया जाता है। विभिन्न बीमारियों में शहद का प्रयोग किस प्रकार किया जाता है आइए क्रम से जानते हैं-

शहद दिलाए कब्ज से राहत use of honey in constipation

जी हां दोस्तों बिल्कुल सही सुना आपने। शहद का प्रयोग कब्ज की समस्या से भी निजात दिलाता है। शरीर में fructose के अवशोषण को कम करता है, जिससे कब्ज की समस्या तो दूर होती ही है साथ ही साथ गैस व अपचन जैसी समस्या का समाधान हो जाता है।

कब्ज की समस्या को दूर करने के लिए हमें शहद का प्रयोग रात्रि में सोने से पहले गुनगुने दूध के साथ करना चाहिए। मात्र एक चम्मच शहद पर्याप्त रूप से दूध को मीठा करने के लिए पर्याप्त होता है। यह प्रयोग हमें कम से कम 15 दिन अवश्य करना चाहिए।

सर्दी जुकाम और नजला में शहद का प्रयोग use of honey in cough and cold

जी हां दोस्तों सर्दी जुकाम नजला को दूर करने के लिए शहद एक रामबाण घरेलू दवा है। इसके नियमित सेवन से ना केवल सर्दी जुकाम को दूर रखा जा सकता है अपितु शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता में अत्यधिक वृद्धि की जा सकती है।

यदि आपको भी सर्दी जुखाम या नजला हो गया है, तो आपको एक चम्मच शहद का प्रयोग दो चुटकी दालचीनी पाउडर या आधा चम्मच अदरक के रस के साथ करना चाहिए। इस प्रयोग को करने से कब पतला होकर शरीर से बाहर निकल जाता है। सांस फूलने की समस्या में भी यह प्रयोग समान रूप से लाभदायक है।

चेहरे की सुंदरता के लिए शहद का प्रयोग use of honey in face glow

जी हां दोस्तों शहद का प्रयोग करके महिलाएं अपने चेहरे की सुंदरता और चमक को बढ़ा सकती है। शहद में पाए जाने वाले पोषक तत्व चेहरे की त्वचा को पोषण प्रदान करती है, इसके साथ ही साथ प्रदूषण और बैक्टीरिया समाप्त कर देते हैं। जिसने हमें कील मुहांसों की समस्या से भी छुटकारा मिल जाता है।

इसे भी पढ़ें : हल्दी वाला दूध पीने के 6 हैरतअंगेज  फायदे

चेहरे की सुंदरता को बढ़ाने के लिए शहद का प्रयोग रात्रि में करना उत्तम माना गया है। इस प्रयोग को करने के लिए सबसे पहले तो चेहरे को भली भांति धो लेना चाहिए। फिर कॉटन से एक चम्मच शहद लेकर पूरे चेहरे पर लगाना चाहिए और फिर इसे रात भर सूखने के लिए छोड़ देना चाहिए।

सुबह फिर से ताजे जल से चेहरा धो लेना चाहिए। यह प्रयोग मात्र एक माह करने से चेहरा तरोताजा हो उठता है, और सुंदर और कांतिवान बन जाता है।

घाव भरने में शहद का प्रयोग use of honey in wounds

दोस्तों शहद में एंटी बैक्टीरियल और एंटी फंगल गुण भी होते हैं। इसलिए शहद का प्रयोग घाव को ठीक करने में भी किया जाता है।

घाव को ठीक करने के लिए सबसे पहले घाव को साफ पानी से धो लेना चाहिए। उसके बाद ही इस में शहद लगाना चाहिए।

शहद के प्रयोग में सावधानियां precautions in uses of honey

  • शुगर या मधुमेह की समस्या में शहद का प्रयोग ना करें
  • जरूरत से अधिक मात्रा में शहद का प्रयोग ना करें
  • रक्तचाप की समस्या में शहद का प्रयोग ना करें
  • घी और शहद का बराबर मात्रा में प्रयोग ना करें
  • पेट में कीड़ों की समस्या होने पर शहद का सेवन ना करें
  • बहुत छोटे शिशुओं को शहद का सेवन ना करवाएं।

इसे भी पढ़ें : धतूरे के अनसुने व हैरतअंगेज फायदे

Tags: honey ke fayde, honey benefits in hindi, sahad khane fayde, honey health benefits in hindi, natural honey benefits in hindi.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here