पलक झपकते ही कम होगा मोटापा, जानिए क्या है सबसे सरल उपाए…

how to reduce belly fat in 7 days

दोस्तों अगर समय रहते अपने खानपान की गलत आदतों पर अंकुश न लगाया जाए तो मोटापा अनियंत्रित हो जाता है। मोटापा कम करने के लिए अक्सर लोग अंग्रेजी दवाओं  का प्रयोग करने लग जाते हैं। लेकिन इससे भी उन्हें कुछ खास लाभ नहीं होता है। जिम जाने व कसरत करने से काफी हद तक मोटापा नियंत्रण में आ जाता है, परंतु इसकी भी एक सीमा है।

क्या है मोटापा ?

मोटापा एक ऐसी अवस्था है जिसमें शरीर शरीर में फैट अर्थात वसा की मात्रा इकट्ठा होने लगती है। अन्य शब्दों में कहा जाए तो वसा का ऊर्जा में रूपांतरण नहीं हो पाता है। कई बार अधिक कैलोरी  युक्त भोजन लेने से या कार्बोहाइड्रेट की मात्रा अधिक लेने से भी मोटापा बढ़ जाता है।

किन्हे होता है मोटापा ?

आमतौर पर मोटापा उन्हीं व्यक्तियों को होता है जो अक्सर कम शारीरिक परिश्रम करते हैं। ऐसे व्यक्ति जिन्हें लंबे समय तक बैठकर काम करना होता है, उनमें यह समस्या देखने को पाई जाती है।

क्या अनुवांशिक कारण भी हैं ?

जी हां दोस्तों मोटापा कुछ अनुवांशिक कारणों के वजह से भी हो सकता है। एक अध्ययन के मुताबिक मोटापा से ग्रस्त माता-पिता की संतानों को भी मोटापा होने की संभावना 40 से 70 % तक होती है।
 

क्या फास्ट फूड भी मोटापा बढ़ाता है ?

जी हां दोस्तों फास्ट फूड  का अंधाधुंध इस्तेमाल भी मोटापा बढ़ाने का एक प्रमुख कारण है। कुछ खाद्य पदार्थ जैसे केक, कुकीज, मफिंस, ब्रेड पेस्ट्री आदि का अधिक सेवन करने से मोटापा में जबरदस्त इजाफा होता है। 
 

क्या नॉनवेज मोटापा का कारण बन सकता है ?

जी हां दोस्तों नॉन वेज  भोज्य पदार्थ भी मोटापा बढ़ाने का एक प्रमुख कारण माना जाता है। मछली, मास, पोल्ट्री के ब्रेड प्रोडक्ट आदि भी मोटापा को बढ़ाते हैं।
 

मोटापा किन किन बीमारियों को जन्म दे सकता है ? 

  • उच्च रक्तचाप
  • सांस फूलना
  • धमनियों का संकुचन
  • बैड कोलेस्ट्रॉल का बढ़ना
  • दृष्टि का कमजोर होना
  • ह्रदय कमजोर होना जैसी अनेकों बीमारियों को जन्म देता है।

मोटापा कैसे कम करें ?

दोस्तों मोटापा को कम करने के लिए सबसे पहले आपको नियमित दिनचर्या अपनानी होगी। आइए बिंदुवार तरीके से जान लेते हैं-
  1. सुबह उठकर मॉर्निंग वॉक जरूर जाएं व तेजी से चलने का प्रयास करें,
  2. विभिन्न प्रकार के योग आसनों जैसे धनुरासन, उष्ट्रासन, पद्मासन और वज्रासन आदि का अभ्यास करें,
  3. कम कैलोरी का भोजन करें,
  4. भोजन में सब्जियों तथा सलाद की मात्रा को बढ़ाएं,
  5. चावल का प्रयोग कम से कम करें,
  6. फाइबर युक्त भोजन का चुनाव करें,
  7. पानी संतुलित मात्रा में पिए,
  8. देसी घी या वनस्पति घी की मात्रा कम से कम लें,
  9. देर रात तक बिल्कुल ना जागे,
  10. सुबह उठकर हल्के गुनगुने पानी में नींबू निचोड़ कर पीए,
  11. लिफ्ट की बजाय सीढ़ियों का सहारा लें,
  12. सुबह-शाम नियमित रूप से बाई साइकिल का प्रयोग करें

निष्कर्ष :

दोस्तों उपरोक्त प्रयोग करने से आपका मोटापा ना सिर्फ कम होगा बल्कि आपका शरीर भी ऊर्जावान बना रहेगा। यदि आप इन सभी उपाय को करते हैं तो आप कब्ज और गैस जैसी पेट की अन्य समस्याओं से भी आसानी से छुटकारा पा सकते हैं व लम्बे समय तक स्वस्थ्य बने रह सकते हैं। 
 

Disclaimer: इस लेख में दी गयी समस्त जानकारी केवल सूचना के उद्देश्य से है , हम किसी भी तथ्य के पूर्णतः सत्य या मिथ्या होने का दावा नहीं करते दी गयी जानकारी का स्त्रोत विभिन्न पुस्तकेंस्वास्थ्य-सलाहकार व कुछ व्यक्तियों के अनुभव हैं, दर्शक कृपया स्व-विवेक से काम लें , किसी भी नुकसान के लिए हमारी कोई जिम्मेवारी नहीं होगी, धन्यवाद

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here